Types of Computer languages in hindi | Computer languages के प्रकार

Types of Computer languages in hindi

Types of Computer languages in hindi :- 

Types of Computer languages के बारे में जानने से पहले हम language के बारे में जानते हैं। Languages का मकसद संदेशों या सूचनाओं का आदान प्रदान करना ही होता है। ठीक इसी तरह Computer की भी अपनी कई languages है, जो जरूरत व उपयोग के अनुसार विकसित की गई हैं। हम जानते हैं, कि computer एक electronic machine मात्र है । ये हम सजीवों की तरह सोंच विचार नहीं कर सकता है और ना ही हमारी तरह इनकी अपनी कोई language है, जिससे हम इनसे सम्बंध बना कर सूचनाओं का लेन-देन कर सकें। इसलिए Computer को उपयोग में लेने के लिए एक ऐसी language की जरूरत होती है, जिससे हम हमारी भाषा में Computer को सूचनाएं दें व Computer उसे उसकी machine language में समझे और हमारी चाही गई सूचना या परिणाम को हमें हमारी भाषा में दे ताकि हम उसे हमारी भाषा में समझ सकें।


Computer Languages :- 
Computer मुख्यतः एक ही language यानी machine language को ही समझता है। फिर भी मोटे तौर पर Computer language को निम्नानुसार तीन भागों में बांटा गया है ये High Level Languages हैं, जिनमें एक ऐसा Software या Program होता है जो इन High Level Languages के Program Codes को  Machine language के Low Level Codes में Convert करने का काम करता है, जिन्हें Computer
समझता है।


1. Low Level Language or Machine Language :-
Low Level Language इसे machine language भी कहते हैं। यह language केवल binary code के अनुसार लिखनी होती है, इसलिए ये language केवल वे ही लोग उपयोग में ले सकते हैं जो Computer की सारी आंतरिक संरचना को जानते हों, साथ ही इस language में लिखे program केवल उसी Computer पर चलते हैं, जिस पर ये लिखे जाते हैं। यह एक बहुत ही कठिन language होती है।


2. Middle Level or Assembly Language :-
Middle level language इसे Assembly language भी कहते हैं। इस language में सामान्य English के शब्दों को उपयोग में लेकर program लिखा जाता है इसलिए ये language उपयोग में machine language से सरल होती है, लेकिन फिर भी काफी जटिल होती है। इसमें एक assembler होता है, जो सामान्य अंग्रेजी के शब्दों को machine language में बदलने का काम करता है ताकि Computer उसे समझ सके। इस language में भी program बनाने वाले programmer को Computer hardware का सम्पूर्ण ज्ञान होना जरूरी होता है व ये program भी उसी Computer पर Run होता हैं, जिस पर इन्हे लिखा गया हो।


3. High Level Language :-
ये हमारे आज के वातावरण में उपयोग में आने वाली languages हैं ये languages इतनी सरल हैं कि कोई भी सामान्य व्यक्ति इनमें program बना सकता है । इसमें सारे के सारे code English में लिखे जाते हैं व इसमें एक compiler होता है जो सीधे ही program को  machine codes में बदल देता है।


Post a Comment

0 Comments