Web Designer | Web Designer कैसे बने

Web Designer Web Designer

Web Designer कैसे बने ;-

( Web Designer कैसे बने ) आज के समय में पूरी दुनिया पर इंटरनेट का राज चल रहा है जितने भी तरह का व्यापार है वह दुनिया के सामने लाने के लिए लोग अब वेब का इस्तेमाल करें है। इस डिजिटल युग में सभी ऑर्गेनाइजेशन और व्यापारियों को अपने प्रोडक्ट और सर्विस को दुनिया भर के लोगों तक पहुंचाने के लिए प्रचारित करने प्रमोट करने और बेचने के लिए इंटरनेट में अपनी पहचान बना कर रखना बहुत ही ज्यादा जरूरी हो गया है।
 

अब इंटरनेट सिर्फ जानकारी देने का काम नहीं करता बल्कि लोग अपने सामान और skills को प्रदर्शित करने के लिए भी इंटरनेट का सहारा लेते हैं और इस काम के लिए जरूरी होता है वेबसाइट जिसके द्वारा लोगों तक अपनी बात पहुंचाई जा सके। पहले जहां बड़ी-बड़ी कंपनियां ही अपनी वेबसाइट बनवा ती थी अब छोटी कंपनियां भी अपनी वेबसाइट चला रही है अब सवाल यह उठता है कि वेबसाइट चलाने के लिए उसे बनाया कैसे जाता है और कौन बनाता है। तो हम आपको बताने की वेबसाइट बनाने के काम को पूरा करता है एक वेब डिज़ाइनर है web designer के पास कंप्यूटर और उससे जुड़े चीजों का भरपूर ज्ञान होता है जिसका इस्तेमाल करके वह डिजाइन कर पाते हैं।

अगर आप भी वेब डिजाइनर बनना चाहते हैं तो आज का यह post आपके लिए बहुत ही यूजफुल हैं जिसमें हम आपको वेब डिजाइनर कैसे बने इसके बारे में सारी जानकारी देने वाले हैं तो सबसे पहले हम चाहेंगे कि वेब डिजाइन होता क्या है वेबसाइट बनाने की प्रक्रिया को वेब डिजाइन कहा जाता है वेबसाइट बनाने की प्रक्रिया को वेब डिजाइनिंग कहा जाता है जिसमें वेब पेज लेआउट content प्रोडक्शन और ग्राफिक डिजाइन सहित कई चीजें शामिल है। जो व्यक्ति वेबसाइट बनाने का काम करता है उसे वेब डिजाइनर कहा जाता है वेब डिजाइनर बनने की सबसे अच्छी बात यह होती है कि आजकल किसी भी government यह प्राइवेट सेक्टर में web designer को नौकरी के ढेर सारे अवसर मिल जाते हैं।

एक web designer का मुख्य काम सिर्फ वेबसाइट को ही डिजाइन करना नहीं होता बल्कि अपने user या client की जरूरत को समझते हुए वेबसाइट को एक आकर्षक रूप देना होता है एक web designer  का काम web page का layout उसका structure और architecture आदि सब तैयार करना होता है वो वेबसाइट का home page से लेकर कॉन्टेंट तक को कुछ इस तरह डिजाइन करते हैं कि रीडर्स और viewers बार-बार उस वेबसाइट पर जाना पसंद करें।


Web डिजाइनिंग के लिए वही लोग perfect होते हैं जिन्हें अपने trend के अनुसार website को डिजाइन करना होता है और contant को प्रस्तुत करना होता है इस career के लिए creativity का होना बेहद जरूरी होता है web designer किसी website को बनाने के लिए software tools और programming language का इस्तेमाल करते है website को HTML नामक makeup language द्वारा बनाया जाता है।  वेब  पेज के  layout को डिजाइन करने के लिए और उसे आकर्षित बनाने के लिए cascading style sheet का उपयोग किया जाता है किसी वेबपेज में taxt, colour, font style, column size cyber layout design को पूरा करने के लिए CSS का इस्तेमाल किया जाता है इंटरनेट पर  मौजूद सभी web pages HTML और CSS के इस्तेमाल से ही बनाएं गए होते है। Html और CSS के अलावा ग्राफिक डिजाइन जॉब इस्तेमाल किया जाता है।

website बनाने java script programming language का उपयोग किया जाता है java script की मदद से website को हम ऐसा design कर सकते है जिसमें की user के किसी भी action को capture किया जा सकता है। जैसे कि आप जब किसी website पर जाकर किसी icon पर click करते हैं और वहां पर अपको नए content दिखाई देता है ये काम java script से ही संभव हो पाता है। website बेहतर तरीके से काम कर सके इसके लिए उसके maintenance बहुत जरूरी है इसलिए वेब डिजाइन में कार्य में होने वाली गलती और issues चेक करके होने वाली गलतियों को सुधारना भी वेब डिजाइन के कार्य है।




अब हम जानेंगे की Web Designer बनने के लिए किस तरह की skills की आवश्यकता है ;-

• अपने काम के प्रति रुचि होना बेहद जरूरी है।
• पढ़ाई की क्वालिफिकेशन ज्यादा जरूरी है।
• creativity के साथ- साथ imagination का गुण होने चाहिए।
• वेबसाइट डिजाइनिंग के दौरान आने वाली सभी तकनीक का अच्छे से पता होना चाहिए।
• कंप्यूटर का भरपूर ज्ञान होना चाहिए।
• HTML  or CSS  का भी ज्ञान होना चाहिए।
• साथ ही प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का ज्ञान होना चाहिए। 



डिजाइनर बनने के लिए क्या क्वालिफिकेशन होनी चाहिए ;-

• HTML, CSS, JAVASCRIPT जैसी लैंग्वेज के बारे में संपूर्ण ज्ञान होना बेहद जरूरी है।
• कोडिंग और स्क्रिप्टिंग का ज्ञान होना जरूरी है


और अब हम जानेंगे कि वेब डिजाइनिंग सीखने के लिए कौन-कौन से कोर्स होते हैं ;-


वेब डिजाइनिंग सीखने के लिए कई सारे कोर्स उपलब्ध होते हैं जैसे कि डिग्री डिप्लोमा सर्टिफिकेट courses जिन्हे सीखने के लिए आप कोई भी बढ़िया सा गवर्नमेंट या प्राइवेट institute या private coaching ज्वाइन कर सकते हैं इन कोर्स में वेबसाइट बनाने के लिए जिन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज या tools की जरूरत होती है उन पर ज्यादा ध्यान दिया जाता है जैसे HTML, JAVA, CSS, web hosting, और SEO जैसी बहुत सी जरूरी चीजें सिखाई जाती है। 


• diploma course का duration 1-2 साल तक का होता है जिसमें आपको बहुत से सॉफ्टवेयर पर काम करने के लिए जानकारी दी जाती है जिससे आप के वेब डिजाइनिंग की स्किल को improve में काफी सहायता मिलती हैं।
• degree course का duration 3 साल का होता है diploma course करके आप वेब डिजाइनिंग की बेसिक चीजें आप सीख पाएंगे। लेकिन डिग्री कोर्स करके आप वेब डिजाइनिंग के एडवांस नॉलेज के बारे में जान पाएंगे। जिससे आप अलग-अलग फील्ड में जॉब पाने के काबिल हो पाएंगे

Degree diploma course सीखने के बाद अपको इसमें बहुत सी चीज सीखने को मिल जाता है जैसे कैसी वेबसाइट बनाई जाती है कैसे उन्हें मेंटेन किया जाता है आदि बहुत कुछ इन courses से पता चलता है।


अब हम जानेंगे कि वेब डिजाइनिंग सीखने के लिए courses के क्या क्या नाम है;-

(1)  bachelor's degree courses -

• B.Sc. in animation and web designing
• B.Sc in graphic and web designing
• B.Sc in UFX and web designing
• B.Sc in in multimedia and web designing

(2) post graduate courses -

• M.Sc in multimedia and web designing
• M.Sc in animation and web designing
• PG Diploma and web designing
• Advanced Diploma and web designing
• PG Certification and web designing

(3) diploma courses -

• diploma in web designing
• diploma in animation and web designing
• diploma in graphics and web designing
• diploma in web development
• diploma in web designing and internet technology


(4) certificate courses -

• certificate in web designing
• certificate in web and graphics design
• certificate in web design and 2D animation
• certificate in web designing and internet technology
• certificate in HTML CSS and PHP 
• certificate in web development
• certificate in web designing and digital marketing


Web designer का कोर्स करने के बाद आप किसी ऑर्गेनाइजेशन या किसी कंपनी में application developer, graphic designer, web content manager, web designer, web developer, SEO specialist आदि जैसी पोजीशन पर काम कर सकते हैं। 






Post a Comment

0 Comments