EDI in e commerce - e commerce EDI in hindi

 

EDI in e commerce - e commerce EDI in hindi

EDI in e commerce in hindi - e commerce EDI 

E-commerce का यह B2B (Business to business) category को belong करता है। EDI एक ऐसा application है, जिसमें electronic media के द्वारा data आदान-प्रदान करते हैं।


EDI को निम्नानुसार परिभाषित किया जा सकता है-"यह एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें information एक standard electronic जिसमें एक computer से दूसरे computer को आदान-प्रदान किया जाता है।"


इस प्रकार EDI का कार्य organization में computer के बीच data transfer करना है। EDI business organization के लिए communication का एक सशक्त माध्यम है जिसमें पुराने communication के तरीके जैसे posting, courier इत्यादि की कोई आवश्यकता नहीं रह जाती, ज्यादातर business transaction  जैसे कि order planning, acknowledgement  भेजना, shipping space book करना इत्यादि सारे कार्य EDI के द्वारा सम्भव हैं।


EDI के माध्यम से न केवल paper work cost, postage curent cost तथा समय की बचत होती है बल्कि trading partners आवश्यकता पड़ने पर information का आदान-प्रदान कर सकते हैं, जोकि

electronically होने के कारण fast और efficient है।


Also Read - Electronic payment system in hindi


Component of EDI - 

एक EDI system gencric EDI message formmat को RDBMS format में convert करके देता है। तथा इसके विपरीत कार्य करता है।

 EDI system के तीन main componcnts होते हैं-


(1) Application service

(2) Translation

(3) Communication

EDI in e commerce - e commerce EDI in hindi


(1) Application Service - 

Appplication service EDI business application के बीच provide करता है। इसके द्वारा हम किसी EDI systerm में document send कर सकते हैं और उससे recieve भी कर सकते हैं। किसी भी document को business app. से EDI में transfer करने के लिए routine function को call किया जाता है। document का destination कहीं भी हो सकता है - Company के अन्दर भी या बाहर भी। एक EDI Application service सारे incoming और outgoing documents को single internal file format में रखता है।


For Outgoing Document - 

(i) Business app. callable routine  का प्रयोग करके किसी document को business Application से business service में send करता है। यह document अब internal file format में convert हो जाता है।


(ii) इस Internal file format में जो document है उसे application service transtation service को send करता है।


For Incoming Document - 

(i) Application service translation service में internal file formate receive करता है।

(ii) Application service इस file को detabase में store कर देता है ताकि कोई business app. EDI से document ले सके। इसके callable interface का use किया जाता है।


(2) Translation Service - Outgoing 

(i) किसी outgoing document internal format file को external format में convert करता है।


For Incoming document: 

(i)  Incoming document i external format EDI format को convert करता है।


(3) Communication service - 

Communication service trading partner कोई भी file दो तराको से send और receive कर सकता है, directly send या receive कर सकता है या trade party जैसे VAN (Value Added Network) के द्वारा कर सकता है।


Generally, computer के माध्यम से कम्प्यूटर्स पर निर्धारित प्रारूप में किये जाने वाले व्यावसायिक लेन-देन के रूप में EDI को परिभाषित किया जाता है। EDI का प्रयोग करके E-commerce समूचे व्यावसायिक चक्र में इलेक्ट्रॉनिक लेन-देन करता है, अत: प्रयोगकर्ता इलेक्ट्रॉनिक विधि से किए गए लेन-देने का भरपूर लाभ प्राप्त करते हैं। आज अमेरिका की बड़ी-बड़ी कम्पनी में EDI व्यावसायिक संचार क़ा एक प्रमुख माध्यम बन गई है। इसके कारण कागजी लेन-देन का स्थान इलेक्ट्रॉनिक लेन-देन ने ले लिया है। इसलिए हम कह सकते हैं कि विशिष्ट पूर्व निर्धारित प्रारूप में दो business, organization के बीच electronic माध्यम से सूचना का आदान-प्रदान, EDI कहलाता है।



पारम्परिक रूप से EDI का क्रियान्वयन व्यवसाय के क्रय सम्बन्धी कार्यों के लिए किया जाता था। EDI Processing के पहले क्रेता क्रय प्रणाली के अनुसार अपनी आवश्यकताओं की समीक्षा करेगा और फिर क्रय आदेश देगा जिसे आपूर्ति हेतु भेजा जाएगा आपूर्तिकर्त्ता वह क्रय आदेश प्राप्त करने के बाद अपने ग्राहकों के रजिस्टर में उसकी प्रविष्टि (entry) करेगा इसके बाद अपेक्षित सांमग्री भेज दी जाएगी।


जिसे फिर से वापस आपूर्तिकर्त्ता को भेजा जाएगा, यह पूरा कार्य एक सप्ताह का हो सकता है। लेकिन EDI ने इस पूरे Process में एक व्यापक परिवर्तन ला दिया। Purchase agent अपने product की आवश्यकताओं को analysis करते रहते हैं और उसके बाद purchase order को मुद्रित करके डाक से भेजने के स्थान पर इन क्रय आदेशों को इलेक्ट्रॉनिक नेटवर्क पर सीधे आपूर्तिकत्त्ता को भेज दिया जाता है। आपूर्तिकर्त्ता की ओर से इस आदेश को स्वत: स्वीकार करके इसे दर्ज किया जाएग। इस नई प्रक्रिया से सामग्री की आपूर्ति उसी दिन की जा सकेगी जिस दिन क्रय आदेश भेजा जाता है । आपूर्तिकर्त्ता सामग्री प्रेषण अधिसूचना के रूप में क्रेताओं को माल-प्रेषण सम्बन्धी अपने सभी दस्तावेज इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से अग्रेषित कर सकता है। जिसमें क्रेता को सामग्री की वास्तविक आपूर्ति होने के पूर्व ही सभी वास्तविक दस्तावेज प्राप्त हो जाते हैं। चूँकि अब बीजक को सीधे ही ग्राहक लेखा देय प्रणाली में भेजा जा सकेगा, इसलिए आपूर्तिकत्त्ता को शीघ्र ही भुगतान मिल जाता है। जो आपूर्तिकत्त्ता को अतिरिक्त लाभ होता है। EDI की मुख्य धारणा यह है कि डेटा की मशीन द्वारासंसाधन योग्य विधि से Electronic माध्यम से स्थानान्तरित किया जाता है अर्थात् EDI Message को बिना किसी हस्तक्षेप के कम्प्यूटर पर यथाशीघ्र भेजा जा सकता है । EDI ने व्यावसायिक लेन-देन में सामान्य विधि में होने वाली कार्यवाही को समाप्त कर दिया है।.


Post a Comment

0 Comments