Electronic payment system in hindi

 

Electronic payment system in hindi


इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम इन हिंदी - Electronic Payment System in hindi -

Electronic payment system के बारे में तो आप सभी लोग अच्छे से जानते ही होंगे तथा इसका उपयोग भी करते होंगे। Electronic payment system का उपयोग काफी बड़ गया है। इसे अब आम से आम व्यक्ति भी उपयोग कर सकता है।

Electronic Payment system, E-commerce का एक important part है जिसका use internet के द्वारा किया जाता है।

EDI का सम्बन्ध B2B e-commerce, electronic transaction से है जिसमें involve business org. सामान्य प्रकार के होते हैं परन्तु यदि business transaction में एक या एक से अधिक financial org. involve हों जैसे कि Banks, Finance, Company, Credit card company इत्यादि, तब इन financial sector के बीच B2B translation के लिए एक विशेष system की आवश्यकता होती है जिसे Electronic Payment system कहा जाता है।..

Electronic payment system के अन्तर्गत EDI के द्वारा financial transaction, बैंक2बैंक Fund transfer Online transaction तथा Credit कार्ड transaction शामिल हैं।

 Electronic payment system के large category B2B type की होती है, परन्तु इसके अलावा बहुत से transaction जो कि credit/ debit card के द्वारा होते हैं वे B2C category में आते हैं।

इस प्रकार electronic payment system EDI में fund या Money transfer करने का electronic media है जो कि B to B तथा B to C Category transaction के लिए उपयोगी है।

इलेक्ट्रॉनिक भुगतान प्रणाली (electronic payment system) आज online business process का main part है। इसका कारण आधुनिक कम्पनियाँ अपने ग्राहकों को सेवाएँ ऑन डिमाण्ड तथा सस्ते दर पर देना चाहते हैं। यह वस्तुत: वर्चुअल (virtual) भुगतान का तरीका है जिसे इलेक्ट्रॉनिक भुगतान प्रणाली (electronic payment system) कहा जाता है। Electronic payment system तथा electronic commerce जटिल रूप में एक-दूसरे से जुड़े हैं जिसके कारण ही उपभोक्ता सामानों तथा सेवाओं का भुगतान कर पाते हैं।


Electronic payment system को current payment system से compile करने के लिए निम्नलिखित विशिष्ट आवश्यकताओं को पूरा करना चाहिए।


(i) स्वीकार्यता (Acceptability)- 

Electronic Payment system में स्वीकार्यता का गुण होना चाहिए। 

(ii) परिवर्तनीयता (Convertibility) – 

Electronic payment system में प्रयोग होने वाले digital cash को इस तरह होना चाहिए कि उसे और प्रकार के funds में शामिल किया जा सके।

(iii) लचीलापन (Flexibility) - 

Electronic payment system different payment system को support करना चाहिए।

 (iv) विश्वसनीयता (Reliability ) -

Electronic payment system को higher reliable होने के साथ-साथ fail होने से condition से बचकर होना चाहिए।

(v) मापनीयता (Scalability ) -

E-payment system के इस प्रकार होना चाहिए ताकि नये-नये customers और suppliers को इस systems से जोड़ने की अनुमति हो । 

(vi) उपयोगी (Usability) - 

Electronic payment system में real payment के समान easy होना चाहिए। 

(vii) सुरक्षा ( Security ) - 

Electronic payment system open network में जैसे Internet पर वित्तीय लेनदेन के सुविधा के साथ उसके process को सुरक्षा प्रदान करना अति आवश्यक है। 



Features of Electronic Payment System in hindi

1. सुविधा (Convenience) - 

इलेक्ट्रॉनिक भुगतान सिस्टम के अन्तर्गत लेन-देन करने के लिए Customer और Businessman होने के लिए special facility, special electronic gagets (उपकरण) और time की आवश्यकता नहीं होती, इसके लिए minimum facility, electronic gudgets और time में ही काम हो जाता है।


2. सुरक्षा (Security) – 

E-Commerce को अपनाने वाले ग्राहकों के लिए सबसे बड़ी problem internet fraud का है। इसलिए payment system secure हो इसके लिए सबसे पहले customer की identity जाननी चाहिए ताकि सभी transaction केवल real customer के साथ की किए जाएँ। इसके बाद customer related information उदाहरण के लिए, क्रेडिट कार्ड नम्बर, बैंक एकाउण्ट नम्बर अथवा पासवर्ड की अनाधिकृत व्यक्ति की पहुँच से सुरक्षित रखा जाए। इन्टरनेट के माध्यम से प्रेषित किए जाने वाले data में किसी भी प्रकार के हेर-फेर अथवा परिवर्तन से संरक्षित किया जाए।


3. Anonymity - 

Online customer की एक problem transaction से related process secure, payment work को secure रखना तथा third party को खर्चीली आदतों को देखने से रोकना है।


4. सार्वभौमिकता (Universality) - 

Internet Businessman तथा customer के लिए E-payment system अत्यधिक सुविधाजनक तथा व्यापक रूप से स्वीकृति है, क्योंकि इसके विभिन्न प्रकार के लेन-देनों के लिए विभिन्न प्रकार की Electronic currency जुटाने की आवश्यकता नहीं रहती, जो electronic currency उनके पास होती है, उसी से वे Business कर सकते हैं।


Types of Electronic Payment System in hindi

Electronic payment system के निम्नलिखित तीन प्रकार होते हैं


(1) Instant paid or Cash: 

Transaction electronic currency के विनिमय से होता है। Online currency exchange का एक उदाहरण e-cash है।


(ii) Prepaid or Debit - 

इसमें प्रयोगकर्ताओं को पहले भुगतान करना होता है, उसके बाद ही वे कोई product या service खरीद सकते हैं। Prepaid payment process का एक उदाहरण smart card है। Smart card को electronic purse या virtual vollet भी कहा जाता है।


(iii) Postpaid or Credit -

इस paymet system में (users) प्रयोगकर्ता की कोई product अथवा service खरीदने और उसके बाद उसका payment करने की अनुमति होती है। Post-paid payment system का उदाहरण Credit Cards और Electronic cheque हैं।


OR


 Internet में Electronic payment system को बहुत से part में divide किया गया है।

E-commerce में payment system तीन प्रकार का होता है

 (a) Digital token - based Electronics payment system 

(b) Smart card and electronic payment system

(c) Credit-card based Electronic payment system 


(a) Digital Token - Based Electronic Payment Systems - 

यह payment करने का नया form develop किया गया है जिसे "electronics tokens" कहते हैं। यह electronic token cash/money के form में होता है। जिसे तीन प्रकार से divide किया गया है।

1. Cash or real time 

2. Debit or prepaid

3. Credit or postpaid.

Digital token का एक अच्छा example e-cash है।

E-cash-

e-cash on-line payment का एक नया concept है जो better security or service provide करता है और paper work को कम करता है। E-cash के कुछ properties इस प्रकार हैं - monetary interportability, retrievability & security. 


Monetary-

E-cash को monetary value होना चाहिये। इस property के through authenticating person or customer money को एक account से दूसरे account में transfer कर सकता है और ये monetary value customer को किसी bank या organization से प्राप्त होती है। 


Interportability - 

इस property के द्वारा सारे information और दो account के बीच e-cash handle लिए जाते है।


Retrievability -

इस property के through किसी account से information की detail retrieve कर सकते हैं। यह process कोई authenticated person ही execute कर सकता है।


Security - 

Internet banking में हो रहेmoney transfer important message को secure रखा जाता है। Using some method example, encryption. 


(b) Smart card based electronic payment system-

इस payment system use all over world में कहीं भी किया जा सकता है। इस payment system में Smart card use किया जाता है। Smart card एक flat card होता है जिसमें एक magnetic पतली strip होती है जिसमें authenticated person की सारी information contain होती है। Example. Account no. Balance, Branch detail, Name, Id etc. जिसके द्वारा customer ATM के through money निकाल कर उसका use कर सकता है।


(c) Credit card based Electronic payment system - 

Credit card का use Smart card तरह पूरे World' में कहीं भी कर सकते हैं। Credit card भी एक तरह का Smart card है। Credit card भी एक flat card होता है जिसमें magnetic strip होती है और information contain होता है। Credit card और Smart card में main difference यह है कि किसी shop में purchase करने के बाद Credit card के द्वारा हम payment कर सकते हैं लेकिन smart card में नहीं किया जा सकता।

Post a Comment

0 Comments