Operators in c in hindi - What is operators in c language

Operators in c in hindi - What is operators in c language


Operator एक संकेत टोकन (Symbol) होता है जिसका उपयोग Program में विभिन्न प्रकार के Mathematical (गणितीय) एवं Logical (तुलनात्मक) ऑपरेशन करने के लिये किया जाता है। Operators का उपयोग प्रोग्राम में data एवं Variables पर ऑपरेशन करने के लिये करते हैं। जैसे +, /, * ,% आदि का प्रयोग हम प्रोग्राम में सामान्यतः करते रहते हैं।

Operators को किसी समीकरण (Expression) में Operands (Data एवं Variables) के साथ उपयोग करते हैं। 

जैसे -

Operators in c in hindi - What is operators in c language


‘C’ Language में Operators को मुख्यतः दो भागों में वर्गीकृत किया जा सकता है

(1) Unary Operators (यूनेरी ऑपरेटर्स)-

वे Operators जिनका उपयोग केवल एक ही Operand (Constant या Variable) के साथ करते हैं, Unary Operators कहलाते हैं। इन्हें Operand के पहले लिखा जाता है। जैसे 

- 9

+ 10

Unary Operator में + एवं - आते हैं, जो Operand का धनात्मक या ऋणात्मक होना बताते हैं। "+" को Unary plus तथा “ - ” को Unary Minus Operator कहते हैं। 


( 2 ) Binary Operators (बाइनरी ऑपरेटर्स)- 

ये वे Operators होते हैं जिनका उपयोग दो Operands (Constant या Variables) के मध्य किया जाता है। जैसे- +, -, >,<, = आदि।

जैसे - 

x = a + b;

y = a - b;

a > b आदि ।

सामान्यत: Operators Binary होते हैं।


* "C" Language में विभिन्न प्रकार के Operators का उपयोग Programs में किया जाता है जिसके मुख्यतः निम्नलिखित प्रकार होते हैं


(i) Arithmetic Operators (अर्थमेटिक ऑपरेटर्स) 

(ii) Relational Operators ( रीलेशनल ऑपरेटर्स)

(ii) Logical Operators (लॉजिकल ऑपरेटर्स) 

(iv) Assignment Operators (असाइमेंट ऑपरेटर्स)

(v) Increment and Decrement Operator (इन्क्रिमेंट एवं डिक्रिमेंट ऑपरेटर्स) 

(vi) Conditional Operator (कंडिशनल ऑपरेटर्स)

(vii) Bitwise Operators (बिटवाईस ऑपरेटर्स)

(viii) Special Operators (स्पेशल ऑपरेटर्स)


(i) Arithmetic Operators (अर्थमेटिक ऑपरेटर्स) - 

इन Operators का उपयोग Program विभिन्न गणितीय समीकरणों (Mathematical Expression या Equation) को हल करने के लिये किया जाता है, जैसे-जोड़ना, घटाना, आदि। 'C' Language में पाँच बेसिक Operators निम्न हैं


Operator                Description           Example

                 

        +                       Addition.                  a + b    

        -                       subtraction.            a - b

        *                      Multifunction.         a * b

         /                     Division.                    a/b

       %                 Modulo Division.         a%b

                             


(ii) Relational Operators (रिलेशनल ऑपरेटर्स) - 

इन Operators का उपयोग तुलनात्मक समीकरणों (logical expressions) में दो Operands (Constants या Variables) के मध्य तुलना करने के लिये किया जाता है। इसलिये इन्हें तुलना ऑपरेटर (Comparison Operators) भी कहते हैं। दो Operands के मध्य सम्बन्धों का परिणाम "true" (1) या "false" (0) होता है।


Operators in c in hindi - What is operators in c language

Relational Operators का उपयोग मुख्यत: Conditional Statements जैसे if (), if ()-else आदि एवं Looping Statements जैसे while (), do while (), for () आदि में किया जाता है क्योंकि ये ऑपरेटर Logical Expression के मुख्य भाग होते हैं।


(iii) Logical Operators (लॉजिकल आपरेटर्स) - 

इन Operators का उपयोग दो या दो से अधिक Logical Expressions ( तुलनात्मक समीकरणों) को जोड़ने के लिये किया जाता है, उसके बाद परिणाम प्राप्त होते हैं। Logical Operators का मुख्य उपयोग Conditional Statements एवं Looping Statements के साथ किया जाता है। इसके भी परिणाम True या False होते हैं

जैसे - 

9 > 2    &&      9 > 5  →   True

9 > 2    &&      9 < 5  →   False


(iv) Assignment Operators (असाइनमेंट ऑपरेटर्स) - Assignment Operators का उपयोग किसी Expression या समीकरण से प्राप्त परिणाम (Result) को किसी Variable में Store (या assign ) करने के लिये किया जाता है। "=" को Assignment Operator कहते हैं। हमेशा Variable को "=" के Left side (बायाँ तरफ) जबकि Expression को Right side (दायाँ तरफ) लिखा जाता है। जैसे  x = a + b - c में a + b - c का परिणाम x में Store किया जायेगा।

Shorthand Assignment Operators (शार्टहैंड असाइनमेंट ऑपरेटर्स) - 'C' Language के Programs में Mathematical Expressions (गणितीय समीकरणों) को short (छोटे रूप) में तीव्रता के साथ लिखने के लिये Shorthand Assignment Operators दिये गये हैं। जैसे -

Operators in c in hindi - What is operators in c language


(v) Increment and Decrement Operators (इंक्रिमेंट एवं डिक्रिमेंट ऑपरेटर्स) - 

"C" Language में दो बहुत उपयोगी Operators दिये गये हैं जो अन्य Programming Languages में नहीं हैं। ये ऑपरेटर Increment Operator तथा Decrement Operator कहलाते हैं। ये दोनों ही Unary Operators हैं अर्थात् एक ही Operand (या Variable) के साथ उपयोग किये जाते हैं। “++" को Increment Operator तथा  “--" को Decrement Operator कहते हैं। "+ +" Operand या Variable में 1 जोड़ता है जबकि “" Operand या Variable से 1 घटाता है।

जैसे- 

a++ या ++a को a = a + 1 भी लिख सकते हैं। इसी प्रकार a -- या  -- a को a = a - 1 भी लिख सकते हैं।


Increment Operator किसी समीकरण में Pre-increment या Post-increment हो सकते हैं। इसी प्रकार Decrement Operator भी Pre-decrement या Post-decrement हो सकते हैं।


(vi) Conditional Operators (कॅडिशनल ऑपरेटर्स) -  Conditional Operator दो अन्य ऑपरेटर? तथा से मिलकर बना होता है। इसे ? लिखा जाता है। इसे Ternary Operator भी कहते हैं els क्योकि यह तीन Operands पर कार्य करता है।


Conditional Operator का उपयोग किसी Logical Expression में Condition को Test करने के लिये किया जाता है। दिये गये Logical Expression में किसी एक Variable की Value का चुनाव (Selection) किया जाता है।


जैसे - 

Operators in c in hindi - What is operators in c language


Expression- 1 में Condition दिया जाता है, यदि दिया गया Condition का परिणाम True हो तब


Expression- 2 का चुनाव किया जाता है अन्यथा False होने पर Expression- 3 का चुनाव किया जायेगा।


a = 7;

b = 10;

x = (a > b ) ? a : b;


उपरोक्त Expression को निम्न प्रकार से भी लिख सकते हैं


if (a > b)

x = a; 

else

x = b;


उपरोक्त Expression में दिया गया Condition ( शर्त) False हो जायेगा तथा x में b की Value 10 store हो जायेगी।


Advantage of Conditional Operator- 

इसका उपयोग Conditional Statement if()-else को shortform ( संक्षेप ) में लिखने के लिए किया जाता है जिससे program छोटा बनता है तथा समझने में भी आसानी होती है।


(vii) Bitwise Operators (बिटवाईस ऑपरेटर्स) -

"C" Language में Memory में data को Binary form अर्थात् “O” या “I" के रूप में Store किया जाता है। Memory में bit लेवल पर ऑपरेशन करने के लिये कुछ विशिष्ट Operators का उपयोग किया जाता है जिन्हें Bitwise Operators कहते हैं। इन Bitwise Operators का उपयोग bits की Testing (परीक्षण) करने के लिये या उन्हें दाँये व बाँयें सरकाने (Shift) करने के लिये किया जाता है।


Operator.                           Description


      &                                    bitwise AND


      !                                      bitwise OR


     ^                                bitwise Exclusive OR


    «                                    Shift left


    »                                  Shift right


    ~                             One's Complement


(viii) Special Operators (स्पेशल ऑपरेटर्स) - 

इन सभी Operators के अलावा “C” Language में कुछ विशेष Operators दिये गये हैं जिनका उपयोग Program बनाने के लिये किया जाता है। जैसे -


Operator                             Description

 

       ,                               Comma Operator


      ★                             Pointer Operator


       &                           Memory Address Operator


      . and →               Member Selection Operator


       sizeof()                   Size of Operator


Post a Comment

0 Comments