visual basic in hindi | introduction Of visual basic in hindi

What is visual basic in hindi

Introduction of Visual basic in hindi


विजुअल बेसिक एक Event driven programming language है जिसके द्वारा window आधारित
application sofware को develop  किया जाता है। इस programming language का निर्माण नब्बे के दशक में microsoft company के द्वारा किया गया था।  जिसका प्रमुख उद्देश्य user को graphical environment provide करना था। विजुअल बेसिक के पूर्व अधिकतर programming languages non-graphical होते थे जिसके द्वारा केवल dos आधारित programe ही create हो पाते जो user friendly नहीं होते तथा इन्हें केवल वही user चला सकता था जिसे dos के Commands याद हो।


Visual का अर्थ ऐसे तरीके से है कि जिसमें एक application का user interface तैयार हो तथा
उस application को user keyboard अथवा mouse के माध्यम से access करे तथा उस application का वातावरण पूर्णरूप से graphical हो। यहाँ BASIC" बेसिक एक programming language है जिसमें आप programming सम्बन्धित कोड टाइप करते हैं। Visual basic को use करके user automated, custom required features एवं predefined function को प्रयोग कर सकता है जिससे ऐसा application create होता है जिसमें create, modify text और Compile करने की सभी सुविधा प्राप्त होती है।

WHY VB CALLED EVENT DRIVEN PROGRAMING LANGUAGE - 


जब तक की किसी Event(button) (click) इत्यादि कॉल नहीं हो जाता है अर्थात system के Hardware तथा Software के पारस्परिक मिलन को Event कहा जाता है। इसी प्रमुख features के कारण visual basic को event driven programming language
कहा जाता है।

Visual Basic में प्रमुख रूप से निम्न Eventका प्रयोग किया जाता है-


  • Mouse related events.
  • Keyboard releted event
  • Memory related events


(a)Mouse Related Events-

 यह ऐसा Event है जिसमें Mouse का प्रयोग किया जाता है। Mouse के Right Click, left click अथवा scroll एवं move करके इस events का प्रयोग किया जाता है। यह सर्वाधिक प्रयोग किया जाने वाला Event है।

(b)Keyboard Related Events-

 जैसा की नाम से ज्ञात होता है। इस Event में Keyboard के द्वारा user output प्राप्त कर सकता है जिसमें Key up, Key down, Key press, इत्यादि प्रमुख events है।

(c)Memory Related Events-

 इस event के द्वारा केवल एक ही event का use होता है जिसे हम load event कहते हैं। By default visual basic के form load event पर ही होते हैं। यह ऐसा event है जिसमें स्वतः ही Memory के द्वारा output प्रदर्शित हो जाता है।


Features of visual basic | visual basic  की विशेषताए


Visual (' विजुअल ') का अर्थ ऐसे तरिके से है जिसमे एक Application का user interface तैयार हो तथा उस application को user keyboard अथवा mouse के माध्यम से access करे तथा उस application का वातावरण पूर्णरूप से Graphical हो। यहां ' Basic ' एक programming language है जिसमें आप Programming सम्बन्धित Code type करते हैं।
visual basic का use करके user automated, cusdom requard feature एवं predefined function का प्रयोग कर सकता है जिससे ऐसा application create होता है जिसमे create, modify text और compile करने की सभी सुविधा प्राप्त होती है।
visual basic high-level programming language है,

जो users को निम्न features provide कराती है:



  1. Object oriented.
  2. Event driven.
  3. Auto completion Wizard.
  4. Error trapping tools.
  5. Flexible environment.
  6. Crystal & Data Reports.
  7. Help files.
  8. Database Connectivity.
  9. Wizards Facility.



(1) Object Oriented -

 यहां object का अर्थ ऐसे control (tools) से है जिनकी कुछ विशेष properties तथा method होते हैं। इन properties को user के द्वारा programming language में objects मौजूद Events के द्वारा user programs के लिये user interface create करता है। Visual basic user को predefined objects तथा user defined object program में use करने की सहमति प्रदान करता है।

(2) Event Driven -

 Event Driven का अर्थ यह है कि programing से सम्बन्धित Code तब तक activate नहीं होते हैं जब तक की user के द्वारा किसी event (Button procecing, menu selection) के respond में यह call न हो जाता हो। इसे हम दूसरे शब्दों में यह भी कह सकते हैं कि System के hardware जैसे mouse keyboard इत्यादि system के software के इस combination को हम event कहते हैं।

(3) Automated Code Completion Wizard - 

इस सुविधा के अंतर्गत user के द्वारा code editer window में सम्बन्धित objects के लिए Coding करते समय उनसे related methods तथा properties की dropdown list code editor में Appear हो जाती है जिसे user उस list में मौजूद methods तथा objects को select करके स्वतः ही बिना type किये code editor window में attach कर सकता है।

(4) Error Trapping Tools - 

इस सुविधा के द्वारा user program में runtime errors को find out करके programming में आसानी से debugging कर सकता है.

(5) Flexible Environments - 

यह ऐसा वातावरण है जिसमें user अपनी इच्छा के अनुसार programme की coding upper case अथवा lower case में कर सकता है तथा अपनी इच्छा के अनुसार SDI forms (Single document interface) अथवा MDI forms (multiple document interface) का use कर सकता है।

(6) Crystal & Data Reports - 

इस facility के माध्यम से user द्वारा inputed value तथा string का printer के माध्यम से report प्राप्त की जा सकती है जिसका इस्तेमाल बिलिंग इत्यादि में किया जाता है।

(7) Help Files - 


Visual Basic language के साथ MSDN Help file provide होती है जिससे User आसानी से Help file का प्रयोग करके application तैयार कर सकता है।

(8) Database Connectivity -

 (ODBC) Open database connectivity तथा ADO, DAO, RDO इत्यादि controls की सहायता से user स्वयं का database create कर सकता है तथा उन्हें विभिन्न database जैसे microsoft access, foxpro, oracles इत्यादि से data को connect कर सकता है।

(9) Wizard Facility - 

इस सुविधा का use करके user data from wizard के द्वारा स्वयं का window based application create कर सकता है जिसमें window के सम्बन्धित सभी tools पहले से ही परिभाषित होते हैं। इसे वह programmer भी use कर सकता है जिसे programming सम्बन्धित अधिक जानकारी न हो।

Post a Comment

0 Comments