Domain Name System in hindi

 

Domain Name System ( DNS ) in hindi

Domain Name System (DNS ) in hindi - 

Internet में web site launch करने से पहले website का address होना आवश्यक है जिस प्रकार आपके physical address से visitors आप तक पहुँच पाते हैं उसी प्रकार cyber world में आपके website address द्वारा user आपके website को visit कर सकते हैं। इस address को ही Domain name' कहा जाता है जो कि एक Internet address है यह address आपकी  website को Internet पर locate करता है।


DNS (Domain Name System) - 

Network में उपस्थित host computer को uniquelly identified करने के लिए TCP/IP Protocol के द्वारा Numerical IP address का use किया जाता है परन्तु numerical address की अपेक्षा Human name का use ज्यादा आसानी से करते हैं इस प्रकार ऐसे system की आवश्यकता हुई जो कि numerical IP address को wave के साथ MAP कर सके, TCP/IP Protocol में इस system को DNS कहा जाता है। 


Domain name को तीन प्रकार से विभाजित किया जा सकता है

(1) Generic domain, 

(2) Country domain, 

(3) Inverse domain 


(1) Generic Domain - 

Generic domain name host से general behaviour के according होता है।

Example - 

.Com=Commercial Organisation

.edu = eduction 

.mil=military

.gov = government 

.org = organization

.Net = Network Support Centre 

.int = International Organization


(2) Country Domain - 

Country domain generic domain के समान होता है, परन्तु इन domains के दो characters country abbreviation को प्रदर्शित करते हैं। Generic domain की तरह ये तीन characters के नहीं होते हैं।

Example - 

.us (United States)

.in (India) 

.uk (United Kingdom)


(3) Inverse Domain - 

Inverse domain का उपयोग IP address के द्वारा Name की mapping हेतु किया जाता है। उदाहरण के लिए client server को request भेजता है तथा server authorized user (जिसका IP address server के पास पहले से मौजूद होता है) के लिए name की mapping करता है।


Domain Name Registration in hindi -

Domain name registration का सीधा अर्थ है दिये गये नाम से निर्धारित समय तक अपनी website के लिए cyber space occupy करना जिसका cost आपको pay करना होता है। यह cost website के द्वारा लिए गए space एवं time पर depend करता है।


India में स्थित किसी व्यक्ति, संस्था अथवा business organization (National/International) अपने website के लिए domain name का registration India अथवा US में कर सकता है। Registration का level public को target करके किया जाता है अर्थात् website nation/international जिस level की है उसी level पर उसका Registration किया जाता है। किसी देश का domain name उस देश की website को represent करता है (us, uk, in), top levels domain बगैर किसी country code के registration होते हैं। इस तरह के domain का registra tion US में होता है।


US में domain name registration के लिए InterNIC (International Network Information Center) या Network Solution नामक संस्थाएँ उपलब्ध हैं जबकि भारत में NCST (National Center for Software Technology) नामक संस्था उपलब्ध है। 

Post a Comment

0 Comments