Generation Of Computer in hindi

 

Generation Of Computer in hindi

जनरेशन ऑफ कंप्यूटर हिंदी -

हेल्लो एंड वेलकम दोस्तो आप सभी का हमारे इस नए पोस्ट Generation Of Computer में स्वागत है। दोस्तो हम इस पोस्ट में computer generation के सभी genaration के बारे में जानेंगे, आज के समय में computer की कितनी आवश्यकता है ये तो आप सभी जानते होगे। Computer हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण भाग बन गया है। कंप्यूटर के विभिन्न प्रकार के generation है। आइए Generation Of Computer के बारे में पड़ते है।


(1) First Generation Computer hindi (1945-55):- 

इस Generation के कम्प्यूटर में Main Equipment के रूप में Vaccum Tubes का प्रयोग किया जाता था। वैक्यूम ट्यूब इलेक्ट्रॉनिक सिग्नल को Amplify करती थी तथा उसे नियंत्रित कर On/Off Switch की तरह उपयोग में लती थी। परन्तु वैक्यूम ट्यूब के साथ एक बड़ी समस्या यह थी कि वह अधिक Heat Generate करती थी इसलिए उन्हें वडा रखने के लिए A.C. Area की आवश्यकता थी। एक अन्य Problem यह थी कि Tubes बार-2 खराब हो जाती थी जिसके कारण समय-2 पर कार्य में रुकावट होती थी। इस Period मे Programming का Development नहीं हो पाया था अतः Instruction को Computer में Load करना बहुत मुस्किल था। इस Generation के कम्प्यूटर में Machine Language का Use किया जाता था जिसे बाइनरी लैंग्वेज (0 and 1) कहा जाता था। इस लैंग्वेज में सभी Instruction तथा इन दो Digits के Combination से ही बनती थी इसलिए इन कम्यूटर को Operate करने के लिए मशीन Language का Knowledge होना बहुत ज़रूरी था।


विशेषताऐं -

(1) इनकी साइज काफी बड़ी होती थी। 

(2) इनकी Processing Speed काफी धीमी थी।

(3) इनकी Main Equipment Vacuum Tube था। 

(4) इनके लिए A.C. की आवश्यकता थी।

(5) इनको Operate करने के लिए binary Language का अच्छी जानकारी आवश्यक थी। इसलिए हर कोई इन्हें Operate नहीं कर पाता था।


(2) Second Generation Computers hindi (1955-65) :-

इस Generation के कम्प्यूटर में Vacuum Tube के स्थान पर Transistor का प्रयोग किया जाने लगा। Transistor Vacuum Tube से साईज में छोटे होते थे। इनमें Power Consumption कम होता था तथा ये अधिक Reliable (विश्वसनीय) थे। इनके कारण कम्प्यूटर की Processing Speed पिछले Generation की अपेक्षा फास्ट हो गई थी ये कम्प्यूटर Cost Wise भी सस्ते थे अतः Scientific Calculation के साथ-साथ विभिन्न Company व Organization द्वारा Business Calculation में भी इनका प्रयोग किया जाने लगा।


विशेषताएँ -

(1) इनकी साईज छोटी थी।

(2) इसकी Processing Speed Fast थी।

(3) Main Equipment Transistor थे।

(4) ये लागत में सस्ते थे।

(5) इनमें Power Consumption का कम यूज होता था परन्तु इनके लिए भी A.C. की आवश्यकता होती थी।

( 6 ) इनमें Assembly Language का प्रयोग किया जाता था।


(3) Third Generation Computers hindi (1965-75):- 

इस Generation के Computers में Main Equipment I.C.(Intergrated Circuit) का उपयोग किया जाने लगा I.C. बहुत छोटी Silicon की Chip होती है। जिस पर हजारों Circuit Print होते हैं। Chip के प्रयोग से कम्प्यूटर का आकार बहुत छोटा तथा उसका मूल्य या लागत काफी कम हो गया। इस समय में D.E.C. (Digital Equipment Corporation) में एक Mini कॉम्यूटर मार्केट में Launch किया। Third Generation में दो प्रकार के कॉम्यूटर्स का विकास हुआ Mini कंप्यूटर तथा Main Frame Computers,


विशेषताएँ :

(1) storage Capacity वृद्धि।

(2) Networking की सुविधा

(3) Time Sharing Technique का प्रयोग 

(4) High Level Language का Use (Basic Fortran)

(5) Size में छोटे

(6) कम किमत

(7) A.C. की आवश्यकता नही।

(8) अधिक Capable Computer Programs जैसे Operating System का Use.


(4) Fourth Generation Computer hindi - 

इस Generation के computers में LSI ( Large scale integrated circuit ) से बनी microchip का प्रयोग किया जाने लगा। जिसे micro processor कहते है। Micro processor से युक्त Computer भी Micro Computer कहलाने लगे। Micro Computer से Computer का व्यक्तिगत उपयोग बढ़ गया। इन Micro Computers को Personal Computer (PC) के नाम से भी जाना जाता है। Micro Processor की तकनीक के कारण ही और अधिक छोटे व तेज computer बना पाना संभव हो सका super computer का विकास भी इसी Generation के अन्तर्गत हुआ।


विशेषताऐं :

(1) अधिक विश्वसनीय

(2) छोटा आकार

(3) L.S.I. तकनीक का प्रयोग

(4) Processing Speed सबसे अधिक

(5) Lower Cost

(6) More Storage Capacity

(7) Fourth Generation Language जैसे- Fox Pro Oracal, SQL आदि का विकास हुआ।


(5) Fifth Generation Computers hindi - 

इस Generation के कम्प्यूटर में Main Equipment V.L.S.I (Very Large Scale Integrated Chip) हैं इस Generation के कम्प्यूटर की सोचने की क्षमता, Decision लेने की क्षमता आदि का विकास किया जा रहा है। इस Generation के कम्प्यूटर अभी तक विकास की प्रक्रिया में है। ये मधीन समानान्तर (Parallel) होगी जो एक समय में कई कार्य कर सकगी। इसके लिए इनमें Artificial Intelligence का Concept Use में लिया जा रहा है। इनमें प्रयुक्त भाषा भी विषेष होगी जैसे Prolog, Lisp. इस प्रकार के कम्प्यूटर से कोई भी व्यक्ति अपनी भाषा में बातचीत कर सकेगा। वर्तमान समय में कई Universities में इस तरह के कम्प्यूटर के विकास के लिए Research चल रही हैं।


विशेषताएं :

(1) इनकी साईज थोड़ी बड़ी होगी।

(2) इनकी कीमत अधिक होगी।

(3) इनकी Data Storage Capacity तथा Processing Speed Fast होगी। 

(4) इनकी यह विषेषता हैं कि इनमें Artificial intelligence का प्रयोग करते हुए Decision लेने की Capacity होगी।


Post a Comment

0 Comments